बारिश का मौसम…

बारिश का मौसम, तेज बारिश अपने आप को हर तरफ बिखरा देना चाहती थी| अपने घर की एक खिड़की से बारिश के सराबोर को वह महसुस करता जा रहा था| अचानक भरी-आवाज मे बिजली ने दस्तक दी और उसे बचपन के उस आगोश मे ले गई, जहाँ ऐसी ही किसी दस्तक ने पिता के दुलार को सामने ला दिया था| उस पल मे कैसे अपने बच्चे को अपनी बाँहो मे उठा लिया कि कोई दस्तक उसके बेटे को डरा ना सके|
बचपन के उस वाकिये से निकलकर सच सामने था, जो मन के इतने करीब होकर भी, वो सबसे दुर था|

 


Home

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

Create a website or blog at WordPress.com

Up ↑

%d bloggers like this: